Wednesday 15 October 2008

...हर बार सरकार को ही निजि क्षेत्र की मदद करनी होती है .तो फिर मेरा प्रश्न है ...........

जब हर झटके पर सरकार को ही निजि क्षेत्र की मदद करनी है तो पूँजीवाद की अपेक्षा पुराना समाजवादी अर्धशासकीय पैटर्न ही क्या बुरा था ?

आर्थिक मंदी , कर्मचारियों की छंटनी , निजि क्षेत्र में आरक्षण , विकास के लिये निजि क्षेत्र का सहयोग ...कोई भी बड़ा मकसद हो सब्सिडी , टैक्स हालीडे , विशेष पैकेज ,या अन्य तरह से ...हर बार सरकार को ही निजि क्षेत्र की मदद करनी होती है .तो फिर मेरा प्रश्न है कि हमारा पुराना समाजवादी विकास ढ़ाँचा , जिसमें अर्धशासकीय निकायों के माध्यम से सरकार स्वयं ही यह विकास का कअर्य करती थी क्या बुरा था ????????????????

1 comment:

chirag said...

nice blog sir
i think
ke agar purane tareeke par jayenge
to govt. kuch development to karti hai nahi
jo private sector ke karan ho rahe hai vo bhi nahi honge
and govt help karane ke liye hi to hai..
kaam to koi karta nahi hai....help kar de vahi bahut hai